March 05, 2024
Hindi Hindi
राजनीति

राजनीति (938)

दुर्ग / शौर्यपथ / भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के द्वारा छत्तीसगढ़ लोकसभा प्रत्याशियों की घोषणा की है दुर्ग लोकसभा से सांसद विजय बघेल को पुनः प्रत्याशी बनाए जाने पर दुर्ग ग्रामीण विधानसभा के विधायक ललित चंद्राकर ने सेक्टर 5 में स्थित सांसद आवास में जाकर  उन्हें बधाई देते हुए अग्रिम एवं ऐतिहासिक जीत की शुभकामनाएं दी है और भरोसा दिलाते हुए कहा कि दुर्ग ग्रामीण क्षेत्र से ऐतिहासिक बढत भारतीय जनता पार्टी को प्राप्त होंगे
   इस अवसर पर दुर्ग ग्रामीण विधानसभा के विधायक ललित चंद्राकर ने कहा कि विश्व के सर्वमान्य नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार के द्वारा देश में विकास की अविरल गंगा बहाई है देश का हर क्षेत्र चाहे वह शिक्षा, स्वास्थ्य, रक्षा ,कृषि, अंतरिक्ष अनुसंधान  हम स्वयं आत्मनिर्भर बने हैं महिलाएं के सशक्तिकरण को लेकर कई योजनाओं के माध्यम से उन्हें सक्षम बनाया गया है यहां तक की मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्री राम भव्य मंदिर एवं मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा 500 वर्षों की इंतजार के बाद हमें देखने का सौभाग्य प्राप्त हुआ और यह सब संभव हो पाया है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के दृढ़ इच्छा से संभव हो पाया है
   श्री चंद्राकर ने कहा कि मोदी जी की दृढ़ इच्छा शक्ति और उनके नेतृत्व वाली सरकार के द्वारा देश में आज मोदी की गारंटी चल रही है विगत दिनों संपन्न हुए छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत प्राप्त हुई थी देश एवं प्रदेश के आम जन-मानस सहित सभी ने मोदी जी पर अपना भरोसा देता है विगत लोकसभा चुनाव में दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से सांसद विजय बघेल जी ने एक ऐतिहासिक जीत प्राप्त की थी इस बार और अधिक भारी मतों से हमें जीत प्राप्त होगी मैं संपूर्ण दुर्ग ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं से उन्हें भरोसा  दिलाता हूं हम और अधिक मतों से दूर्ग ग्रामीण क्षेत्र में बढ़त बनाएंगे .मैं शीर्ष नेतृत्व  हृदय से धन्यवाद देता हूं एवं सांसद विजय बघेल जी को पुनः हार्दिक बधाई एवं ऐतिहासिक जीत की अग्रिम शुभकामनाएं देता हूं

राजनीती / शौर्यपथ / लोकसभा चुनाव की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है वही भाजपा संगठन ने 150 से ज्यादा प्रत्याशियों की सूचि जारी कर चुनावी mod में आये कार्यकर्ताओं के जोश को दुगना कर दिया . छात्तिस्ग्गढ़ के सभी 11 सीटो पर भाजपा संगठन ने प्रत्याशियों की सूचि जारी कर दी प्रदेश में भाजपा के 09 सांसद तथा कांग्रेस के दो सांसद थे . प्रदेश में भाजपा के 7 सांसदों का टिकिट काट दिया और नए चेहरों को मौका दिया वही प्रदेश में गत वर्ष हुए विधानसभा चुनाव में घोषणा पत्र समिति के संयोजक रहे दुर्ग लोकसभा के सांसद विजय बघेल पर अपना भरोसा कायम रखते हुए एक बार फिर दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से मौका दिया . दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में विजय बघेल के नाम की घोषणा होते ही दुर्ग भिलाई के भाजपा कार्यकर्ताओ ने आतिशबाजी कर विजय बघेल को जीत की अग्रिम शुभकामनाये दी. युवा मोर्चा के महंत्री मनमोहन शर्मा ने विजय बघेल के आगामी लोकसभा चुनाव में जीत को निश्चित मानते हुए कहा कि सांसद के रूप में सफल कार्यकाल के साथ युवाओं को संगठन में जोड़ने एवं नए उर्जा के संचार में सांसद बघेल की भूमिका अहम् है वही पिछले बार के जीत के मतों से ज्यादा इस बार जीत दिलाकर दुर्ग से एक बार फिर विजय बघेल संविधान के सबसे पवित्र स्थल लोकसभा में दुर्ग लोकसभा क्षेत्र के विकास कार्यो को गति प्रदान करने में अहम् भूमिका निभाएंगे .
  वही भिलाई के राजा ठाकुर ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव में जिस लक्ष्य के करीब जीत हुई थी उस लक्ष्य को पार करते हुए इस बार दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से विजय बघेल को 6 लाख से भी ज्यादा मतों से जिता कर लोकसभा में पुरे भारत में सर्वोच्च जीत के रिकार्ड बनाया जाएगा जिसके लिए दुर्ग लोकसभा क्षेत्र का हर कार्यकर्त्ता पिछले एक माह से चुनावी मोड़ में कार्य कर रहा है इस बार देश में सबसे ज्यादा मतों के अंतर से जीत होगी . भाजपा के 400 पार के नारे के साथ दुर्ग से 6 लाख पार का अभियान युद्ध स्तर पर चलाया जाएगा .  

  रायपुर/ शौर्यपथ / प्रधानमंत्री मोदी द्वारा छत्तीसगढ़ को 34 हजार करोड़ के तथाकथित सौगात को कांग्रेस ने एक भुलावा बताया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि चलाचली की बेला में जब कि लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने वाली है। प्रधानमंत्री योजनाओं के शिलान्यास की घोषणा कर रहे है, न रहेगी मोदी सरकार और न ही यह घोषणायें पूरी होनी वाली है। 10 सालों से देश में मोदी की सरकार है। मोदी के दोनों कार्यकाल में छत्तीसगढ़ ने 10 और 9 सांसद बनाकर अपना समर्थन दिया था। लेकिन दोनो ही कार्यकाल में मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ की जनता को ठगा है। अब जब चुनाव सामने आ गया है तो एक बार फिर से वोट हासिल करने के लिये चुनावी घोषणा कर रहे है।
   प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि जनता मोदी और भाजपा की चाल को समझ रही है तथा जनता मोदी के इस नये चुनावी जुमलेबाजी में नहीं आने वाली। मोदी की जिन गारंटीयों को पूरा होने का झूठा श्रेय लेने का प्रयास किया गया वह तो धरातल पर उतर ही नहीं है। 18 लाख पीएम आवास की बात आज फिर से की गई हकीकत यह है कि छत्तीसगढ़ के एक भी हितग्राही को नए पीएम आवास का एक नया पैसा विष्णुदेव साय सरकार में नहीं मिला है। किसानों को धान की कीमत 3100 रूपए एक मुश्त किसी को नहीं मिला है, किसी भी गांव में अब तक वादे के मुताबिक धान खरीदी का भुगतान केंद्र नहीं खोला गया है। महतारी वंदन के नाम पर भी अभी तक किसी को कुछ नहीं मिला उल्टे पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा बजट प्रावधान किए गए बेरोजगारी भत्ता नवंबर माह से आज तक लंबित है। किसान न्याय योजना की चौथी किस्त की राशि जो पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने बजट प्रावधान किया था उसको तक्षय सरकार हड़प ली है।
   प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि केंद्र में मोदी की सरकार को 10 वर्ष हो गए अपना रिपोर्ट कार्ड जारी करना चाहिए लेकिन आज एक बार फिर छत्तीसगढ़ की जनता को ठगने के लिए मोदी के जुमले को गारंटी बता कर खोटे सिक्के को चलाने का प्रयास किया गया। हकीकत यह है कि मोदी सरकार छत्तीसगढ़ से वसूलते ज्यादा है और देती कम है। छत्तीसगढ़ उत्पादक राज्य है स्टील और सीमेंट के अग्रणी उत्पादन से लेकर तमाम तरह के खनिज कोयला, आयरन ओर, बाक्साइड, टीन जैसे बहुमूल्य खनिज संपदा से जिसका केंद्र की मोदी सरकार दोहन करती है, अरबों रुपए हर साल केवल छत्तीसगढ़ से कमाती हैं। केवल रेलवे जोन से 12000 करोड़ से अधिक की राशि हर साल मोदी सरकार कमाती है, लेकिन यात्री सुविधाओं के नाम पर मोदी सरकार ने छत्तीसगढ़ को सदैव उपेक्षित रखा है। औसतन हर साल 90 हजार करोड़ से अधिक की राशि केंद्र की मोदी सरकार छत्तीसगढ़ से वसूलती हैं, 10 साल में 9 लाख़ करोड़ वसूलकर मात्र 34 हजार करोड़ देने का एहसान जताना छत्तीसगढ़ का अपमान है।

मोदी ने 10 सालो तक सिर्फ जुमलेबाजी किया एक भी वादा पूरा नही किया- दीपक बैज
देश की आजादी से लेकर नव निर्माण तक कांग्रेस की देन

  रायपुर/ शौर्यपथ / प्रधानमंत्री मोदी का का भाषण यह बताने के लिये पर्याप्त था कि नरेन्द्र मोदी पिछले 10 साल में कुछ भी उपलब्धि हासिल नही कर पाये। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा कि 10 साल तक उन्होंने सिर्फ जुमलेबाजी किया। अब लोकसभा चुनाव शुरू होने वाला है मोदी को अपनी उपलब्धि बताने के लिये कुछ भी नहीं है। बड़ा ही हास्यापद है कि 9 लाख का सूट पहनने वाले, 8 हजार करोड़ के विमान से चलने वाले प्रधानमंत्री मोदी, 35 हजार रू किलों का मशरूम खाने मोदी अपने आप को संत बता रहे। जो प्रधानमंत्री पिछले 10 साल में अपने ब्राडिंग में जनता के हजारों करोड़ रू खर्चा कर देता है? वह खुद को सबसे ईमानदार बता रहे है। प्रधानमंत्री बताये कि अडानी की संपत्ति इनके राज में कैसे बढ़ रही है? अडानी की शेल कंपनियों में 20 हजार करोड़ किसके है?
   प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा कि प्रधानमंत्री बताये कि उनके दो कार्यकाल पूरा होने के बाद भी उनके 2014 के वायदों का क्या हुआ? 100 दिन में महंगाई कम करने का वादे कर क्या हुआ? किसानों की आय दुगुनी का क्या हुआ? मोदी यह बताये 10 साल के बाद भी अपने समर्थन मूल्य गारंटी के लिये भारत का किसान दिल्ली की ओर कूच कर रहा है। युवाओं को 2 करोड़ रोजगार क्यो नही मिला, पेट्रोल डीजल के दाम 35 रू क्यो नही हुआ? हर के खाते में 15 लाख क्यो नही आया? 2022 तक हर आवासहीनों के मकान के वायदे का क्या हुआ, विदेशों से काला धन लाकर हर नागरिक के खाते में 15 लाख लाने के वादे का क्या हुआ? मोदी बताये देश के महिलाओ को सुरक्षित वातावरण क्यो नही मिल रहा है? प्रधानमंत्री को बयानबाजी के बजाय अपने 10 साल के वादों का हिसाब जनता को दे।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा कि नरेन्द्र मोदी को अध्यन करना चाहिये कि 70 सालों में कांग्रेस ने क्या किया। देश की आजादी से लेकर भारत का नव निर्माण कांग्रेस की देन है। जब 1947 के बाद देश में पहली बार कांग्रेस की सरकार बनी तब देश की साक्षरता दर 18 फीसदी थी। नरेन्द मोदी जब प्रधानमंत्री बने तब देश की साक्षरता दर लगभग 80 फीसदी से ऊपर थी। 1947 में देश में एक भी आईआईएम, आईआईटी, एम्स, सिंचाई के बांध नही थे। बोकारों, राउरकेला, दुर्गापुर जैसे संयत्र कांग्रेस के सरकार ने बनाया। देश के नवनिर्माण से औद्योगिकरण को किया तो कांग्रेस की सरकार ने किया। मोदी ने 10 सालों में सिर्फ कांग्रेस की सरकारों के द्वारा बनाये गये सार्वजनिक उपक्रमों को बेचने का काम किया है।

शौर्यपथ राजनीति । लोकसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है राजनितिक पार्टी अपनी अपनी तैयारियों में जुट गई। एक तरफ जहां भाजपा इस बार 400 पार नारे के साथ मैदान में उतर रही वही कांग्रेस आम जनता की नाराजगी के दम पर सत्ता में आने की राह देख रही है । कांग्रेस की राह आसान नहीं । संगठन के नाम पर नाराज और निष्क्रिय कार्यकर्ताओं की फौज कांग्रेस के लिए परेशानी का सबब बन रही है । विरोध प्रदर्शन जैसे आयोजनों में चंद कार्यकर्ताओं की उपस्थिति कांग्रेस की कमजोर स्थिति को दर्शा रही ।
  दुर्ग लोकसभा क्षेत्र की बात करें तो दुर्ग लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी के प्रबल दावेदार के रूप में राजेन्द्र साहू का नाम प्रमुखता से आने के बाद कांग्रेस में अंदरुनी बहस भी शुरू हो चुकी है । वैसे तो कांग्रेस नेता राजेन्द्र साहू पूर्व मुख्यमंत्री के करीबी है किंतु पूर्व में निर्दलीय चुनाव एवं विधान सभा लड़कर कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने का आरोप भी राजेन्द्र साहू के ऊपर लगना शुरू हो चुका है । वही कांग्रेस के कद्दावर नेता स्व. मोतीलाल वोरा के पुतला दहन की चर्चा भी इन दिनों फिर से सुनने को मिल रही ऐसे में कांग्रेस के अंदरूनी उठापटक भी साफ़ नजर आ रही .
  बता दे कि राजेन्द्र साहू के निर्दलीय महापौर चुनाव एवं विधान सभा चुनाव लड़ने के कारण कांग्रेस प्रत्याशी की हार का आरोप भी राजेन्द्र साहू पर लग चुका है वही 2018 विधान सभा चुनाव से पूर्व पुनः कांग्रेस में घर वापसी के बाद संगठन में सक्रिय हुए । तात्कालिक मुख्यमंत्री का करीबी होने का फायदा भी संगठन में मिला । एक समय ऐसा भी था जब युवाओं में अच्छी पकड़ थी पर समय के साथ अब स्थिति बदलती नजर आ रही । वर्तमान समय में दुर्ग लोकसभा क्षेत्र में कांग्रेस की स्थिति काफी कमजोर नजर आ रही है ऐसे में कांग्रेस से बगावत कर महापौर और विधायक का चुनाव लड़ने तथा पुनः कांग्रेस में शामिल हो कर लोकसभा के प्रबल दावेदार बनने से जहा भाजपा की राह आसान नज़र आ रही वही कांग्रेस में अंदरुनी विरोध भी ऐसे लोगो द्वारा आरंभ हो चुका जो सालों से कांग्रेस की राजनीति कर रहे और संगठन के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करते रहे तथा कांग्रेस के झंडे को थामे हुए आगे बढ़ते रहे ।
 वर्तमान समय में पूर्व गृह मंत्री साहू एवम पूर्व साडा उपाध्यक्ष बृज मोहन सिंह ऐसे प्रबल दावेदार हैं जो संगठन के लिए पूरी तरह समर्पित है। कांग्रेस जिसे भी प्रत्याशी घोषित करे किंतु अगर संगठन में एकता का अभाव रहा तो बड़ी बात नहीं कि पूर्व की बड़ी हार का रिकार्ड भी टूट सकता है । केंद्रिय संगठन जिसे भी प्रत्याशी घोषित करे उन्हे यह भी निश्चित करना होगा कि अंदरूनी विरोधाभास को भी खत्म कर एकजुटता का संदेश देना होगा ।

शिक्षा अधिकारी ने पालकों को पत्र लिखकर कहा स्कूल जाने वाले बच्चों की सुरक्षा स्वयं करें
रायपुर/ शौर्यपथ / प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि सूरजपुर जिला शिक्षा अधिकारी का पालकों को पत्र लिखकर स्कूली बच्चों की सुरक्षा स्वयं करने निर्देश देना इस बात का प्रमाण है कि भाजपा की सरकार अपराधियों से जनता की सुरक्षा करने में नकारा हो गई है। प्रतापपुर से गायब रिशु कश्यप को अभी तक पुलिस ढूंढ नहीं पाई है, वही अपराधियों ने दिनदहाड़े 11 वर्षीय बच्ची का अपहरण करने का प्रयास किया है जिसे जनता ने बचाया है। छत्तीसगढ़ में कानून व्यवस्था चरमरा गई है। अपराधियों के हौसले बुलंद है। पूरा प्रदेश यूपी की तरह जंगल राज की ओर बढ़ रहा है। अपहरण, बलात्कार, लूटपाट, चाकूबाजी, डकैती चोरी की घटनाएं बढ़ी, गोली चलना शुरू हो गया है। जिला शिक्षा अधिकारी के पत्र के पश्चात पालक अपने बच्चों को स्कूल भेजने में डर रहे हैं।
  प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि 15 साल के भाजपा शासन काल के दौरान भी छत्तीसगढ़ अपराधियों के लिए सबसे सुरक्षित जगह था, अपराधियों का पनाहगार था। उन 15 सालों में शाम को 6 बजे थाना के दरवाजे बंद हो जाते थे, जनता सूर्यास्त के बाद घर से बाहर निकलने से डरती थी, मॉर्निंग वॉक में लोग नहीं जाते थे, आज फिर वही स्थिति निर्मित होने जा रही है।
  प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री विष्णु देव साय की सरकार प्रतापपुर से गायब बच्चे को तत्काल ढूंढे और 11 वर्षीय बच्ची के अपहरण के प्रयास करने वाले अपराधियों को पकड़े, अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई हो, कानून का भय जनता के ऊपर नहीं बल्कि अपराधियों के ऊपर दिखना चाहिए। स्कूल जाने वाले बच्चे, महिलाएं के साथ आम जनता की सुरक्षा सुनिश्चित हो, जनता निडर होकर अपने दिनचर्या के कार्यों को संपादित कर सके।

पार्टी की सबसे सूक्ष्म इकाई बूथ समिति तक समन्वय स्थापित कर ऐतिहासिक मतों से जीतेंगे दुर्ग लोकसभा - राजेश मूणत  

      दुर्ग / शौर्यपथ / लोकसभा चुनाव होने में कुछ दिनों का ही समय शेष है, ऐसे में भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेतृत्व ने जमीनी स्तर पर सक्रियता बढ़ाने और जनाधार को और अधिक मजबूत करने के उद्देश्य से अपने बड़े नेताओ को मैदान में उतारने की योजना पर काम शुरू कर दिया है।  प्रत्येक लोकसभा के समीकरण के हिसाब से कार्ययोजना बनाई जा रही है, इसके लिए पार्टी ने 3 या 4 लोकसभा जोड़कर एक क्लस्टर बनाया है, वरिष्ठ नेताओ को क्लस्टर की जिम्मेदारी देकर पार्टी चुनाव प्रबंधन का क्रियान्वयन कर रही है। इसी कड़ी में रायपुर क्लस्टर अंतर्गत आने वाले दुर्ग लोकसभा क्षेत्र की लोकसभा कोर कमेटी और लोकसभा प्रबंधन समिति की आवश्यक बैठक चुनाव कार्यालय में क्लस्टर प्रभारी राजेश मूणत ने ली। क्लस्टर प्रभारी विधायक राजेश मूणत ने आगामी 29 तारीख लोकसभा क्षेत्र की सभी 9 विधानसभाओं में कार्यालय का उदघाटन करने की अपील की। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व द्वारा छत्तीसगढ़ भाजपा को जो भी निर्देश और कार्ययोजनाएं मिलेंगी, उसका पालन प्रदेश भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता को अक्षरशः करना है, पार्टी के पदाधिकारियों से लेकर कार्यकर्ता तक सबको एकजुट होकर पार्टी की सबसे सूक्ष्म इकाई बूथ समिति तक ऐसा समन्वय स्थापित करना है कि व्यापक संवाद और पारदर्शिता बनी रहे। राजेश मूणत ने बताया कि क्लस्टर प्रभारियों का मुख्य कार्य संवाद स्थापित करना और पारदर्शिता से कार्य संपन्न कराना है, हमें जितनी भी जिम्मेदारियां शीर्ष नेतृत्व से प्राप्त होंगी उन्हे बूथ तक पहुंचाना और उन पर क्रियान्वयन करवाने की नीति पर गंभीरता से चलना है, आगामी नव-मतदाता सम्मेलन, शक्ति वंदन कार्यक्रम, गांव चलो अभियान के साथ साथ मीडिया और सोशल मीडिया का सकारात्मक उपयोग करते हुए नए लोगों को अधिक से अधिक पार्टी प्रवेश का अभियान चलाना है। महिला समूहों और एनजीओ के बीच एक अलग अभियान चलाना है , गांव चलो घर घर चलो अभियान का शुभारंभ हो चुका है। उन्होंने आगे कहा जिस प्रकार कार्यकर्ताओ की अथक मेहनत के फलस्वरूप भाजपा ने मात्र 5 वर्षों में ही जबरदस्त वापसी की है उसी तरह छत्तीसगढ़ की ग्यारह की ग्यारह लोकसभा सीटें नरेंद्र मोदी को उपहार में देनी है। क्लस्टर प्रभारी एवं विधायक राजेश मूणत ने कहा कि आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्यतिथि के अवसर पर संकल्प लेते हुए दुर्ग लोकसभा की जीत का समर्पण मांगता हूं और मुझे विश्वास है कि दुर्ग में कार्यकर्ता ऐतिहासिक जीत दर्ज करवाएंगे |
  क्लसटर एवं लोकसभा सह प्रभारी राजीव अग्रवाल ने कहा कि हमारे द्वारा लोकसभा स्तर पर चुनाव प्रबंधन समिति का गठन किया गया है, जो लोकसभा चुनाव समापन तक चुनाव संबंधी हर कार्य का क्रियान्वयन करेगी , लोकसभा कोर कमेटी का भी गठन किया गया है, जिसमे सांसद, प्रदेश पदाधिकारियों, जिला भाजपा अध्यक्ष महामंत्री, विधायक आदि को शामिल किया गया ताकि उन सभी वरिष्ठ नेताओं का मार्गदर्शन भी हम सभी को लगातार प्राप्त होता रहे। राजीव अग्रवाल ने कहा कि लोकसभा चुनाव प्रबंधन समिति के बाद शीघ्र ही विधानसभा स्तरीय चुनाव प्रबंधन समिति की भी बैठक होगी इसके तुरंत बाद विधानसभा स्तरीय चुनाव कार्यालयों का भी उदघाटन किया जाएगा। बैठक का संचालन लोकसभा संयोजक अवधेश चंदेल ने किया एवं आभार जिला भाजपा अध्यक्ष जितेंद्र वर्मा ने किया।
  लोकसभा चुनाव कार्यालय में आहूत बैठक में विशेष रूप से लोकसभा प्रभारी चंदूलाल साहू, क्लस्टर सह प्रभारी राजीव अग्रवाल, लोकसभा संयोजक अवधेश चंदेल, सहसंयोजक प्रीतपाल बेलचंदन, कैबिनेट मंत्री दयाल दास बघेल, विधायक डोमन लाल कोर्सेवाडा, ललित चंद्राकर, गजेंद्र यादव, पूर्व विधायक एवं विधानसभा अध्यक्ष प्रेमप्रकाश पांडेय, भाजपा जिला अध्यक्ष जितेंद्र वर्मा, महेश वर्मा, लोकसभा विस्तारक संजय प्रधान मंचस्थ रहे। लोकसभा कोर कमेटी एवं लोकसभा चुनाव प्रबंधन समिति के सदस्य बैठक में शामिल हुए।

पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने अपने वित्तीय अनुशासन और कुशल प्रबंधन से छत्तीसगढ़ को देश के पांच राज्यों में शामिल किया था

    राजनांदगांव / शौर्यपथ / जिला कांग्रेस कमेटी व्यापार प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष सैय्यद अफजल अली ने कहा बजट में महंगाई-बेरोजगारी के घोर आर्थिक संकट में घिरी प्रदेश की अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए कोई पहल नहीं दिखती है। निर्माण, छोटे उद्योगों, व्यापार, जो इस मंदी की मार से सबसे ज्यादा बेहाल है, वहां लोगों ने सबसे ज्यादा रोजगार खोए है, उनके लिए बजट में कुछ नहीं किया गया है। तीन प्रदेश से घिरे राजनांदगांव जिले के तीनों क्षेत्रों के बेरोजगार लोगों को नकद, न्यूनतम, मासिक आय को बढ़ाने और इस क्षेत्र में नए उद्योग के जरीए बेरोजगारों को रोजगार से लगाने के लिए सरकार की ओर से सहायता जरूरी है, पर बजट में इसका कोई प्रावधान नहीं है, संस्कारधानी नगरी के बाजार में तरलता लाने व्यापार-उद्योग को पटरी पर लाकर रोजगार के अवसर बढ़ाने की कोई मंशा बजट में नहीं दिखती है। शासकीय कर्मचारियों को लेकर भी उनके मानदेय बढ़ाने या उनकी सुविधा में वृद्धि करने का कोई व्यवस्था नहीं है, इस बजट से मोदी की गारंटी कहा गईं। नये उद्यमी, व्यवसायियों के बेहतर व्यवस्थापन की कोई कार्य योजना नहीं है।
सैय्यद अफजल अली ने आगे कहा पूर्ववर्ती सरकार द्वारा चलाए जा रहे जनकल्याणकारी कार्यक्रमों को सतत जारी रखने में साय सरकार संशय की स्थिति में नजर आ रही है। आम जनता के हित से भारतीय जनता पार्टी का कोई सरोकार नहीं है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने अपने 5 वर्ष के कार्यकाल के दौरान प्रदेश की जनता पर कोई नया कर नहीं लगाया गया था और न ही किसी भी तरीके से करो में कोई वृद्धि की गई, बल्कि जनता को मिलने वाले राहत और सब्सिडी सतत जारी रहा। कांग्रेस की सरकार ने अपने पांच वर्ष के कार्यकाल के दौरान छत्तीसगढ़ की जीडीपी को 2 लाख 77 हजार से बढ़ाकर 5 लाख नौ हजार तक अर्थात दोगुना पहुंचाया है। पूर्ववर्ती कांग्रेस की सरकार ने अपने वित्तीय अनुशासन और कुशल प्रबंधन से छत्तीसगढ़ को देश के उन पांच राज्यों में शामिल किया था, जिसने विगत 3 वर्षों से कोई नया कर्ज नहीं लिया था, लेकिन नए सरकार आते ही पिछले 2 महीने में चार-चार बार कर्ज लिया गया। विगत एक माह के दौरान ही वर्तमान सरकार ने 5 हजार करोड़ का नया कर्ज लिया है और इस बजट में फिर से लगभग 20 हजार करोड़ का नया कर्ज लेने का प्रावधान भाजपा के वित्तीय कुप्रबंधन और अनर्थशास्ञ का प्रमाण है।
पूर्ववर्ती कांग्रेस सरकार के पिछले बजट में शिक्षा पर कुल बजट का 19.4 प्रतिशत खर्च किया गया था, जो इस बजट में घटाकर मात्र 15.95 प्रतिशत कर दिया गया है। कृषि के क्षेत्र में कुल बजट पिछले बजट में कुल बजट प्रावधान का 16.6 प्रतिशत था, जो इस बार घटाकर 14.05 प्रतिशत कर दिया गया है, इस तरह कृषि प्रधान छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार कृषि का बजट पिछले वर्ष की तुलना में लगभग ढाई परसेंट घटा दिया गया है। शिक्षा के बजट में 4 प्रतिशत की भारी भरकम कटौती वर्तमान सरकार की बदनीयती को प्रमाणित करता है। संशाधनों की कारपोरेट लूट को बढ़ाने के पूरे प्रावधान हैं, दूसरी ओर इस मंदी में एक साल में ही एक तिहाई तक संपति बढ़ाने वाले कारपोरेट घरानों को टेक्स में भारी छूट दी गई हैं। बीपीएल परिवार में कन्या रत्न प्राप्त होने पर डेढ़ लाख रुपए देने का वादा किया गया था। पंचायत स्तर पर डेढ़ लाख बेरोजगार युवाओं की भर्ती, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 4500 रुपए बोनस, इन्नोवेशन हब बनाकर 6 लाख रोजगार, कॉलेज जाने हेतु छात्रों को मासिक ट्रेवल्स अलाउंस, 500 जन औषधि केंद्र खोलने, 500 रूपये में प्रति घर गैस सिलेंडर पहुंचाने, 100000 सरकारी पदों पर भर्ती के लिए बजट में कोई प्रावधान नहीं किया गया हैं। कुल मिलाकर प्रदेश के मध्यमवर्गीय लोग बेरोजगारी मंदी का संकट झेल रहे हैं।

बजट से साफ साय सरकार की प्राथमिकता में शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि नही
रायपुर/ शौर्यपथ / प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि बजट से भाजपा की बदनीयती सामने आई है। मोदी की गारंटी के नाम पर छत्तीसगढ़ की बहन बेटियों को एक बार फिर छला गया। इस बजट में महतारी वंदन योजना के अंतर्गत पूरे 1 वर्ष के लिए कुल बजट प्रावधान मात्र 3000 करोड़ रूपया अर्थात ढाई सौ करोड़ रूपए महीना? प्रदेश में कुल महिला मतदाताओं की संख्या लगभग एक करोड चार लाख है, भारतीय जनता पार्टी के साय सरकार के द्वारा किए गए बजट प्रावधान से मात्र 25 लाख महिलाओं को ही 1000 रुपया महीना दिया जा सकेगा, अर्थात भारतीय जनता पार्टी की विष्णुदेव साय सरकार की मंशा प्रदेश के लगभग 80 लाख महिलाओं को महतारी वंदन योजना से बाहर रखने का है। बजट के अनुसार तो 25 लाख महिलाओं को महतारी वंदन योजना के तहत 1000 रूपया महिना मिल सकता है। लेकिन जिस प्रकार से साय सरकार षडयंत्र पूर्वक शर्ते लाद रही है। उससे लगता है कि 20 प्रतिशत महिलाओं को भी लाभ देने की इनकी नीयत नहीं है।
प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि बजट से साफ साय सरकार की प्राथमिकता में शिक्षा, स्वास्थ्य और कृषि नहीं। विष्णुदेव सरकार का पहला बजट जनता को निराश करने वाला है। इस बजट से राज्य की प्रगति के मार्ग में बाधा पैदा होगी। कृषि और शिक्षा के बजट में कटौती बताती है कि भाजपा सरकार की प्राथमिकता में न शिक्षित छत्तीसगढ़ है और नहीं समृद्ध छत्तीसगढ़ न एक लाख रोजगार के बारे में बजट में कुछ है और न ही 500 में सिलेंडर के बारे में कुछ है।

Page 1 of 105

हमारा शौर्य

हमारे बारे मे

whatsapp-image-2020-06-03-at-11.08.16-pm.jpeg
 
CHIEF EDITOR -  SHARAD PANSARI
CONTECT NO.  -  8962936808
EMAIL ID         -  shouryapath12@gmail.com
Address           -  SHOURYA NIWAS, SARSWATI GYAN MANDIR SCHOOL, SUBHASH NAGAR, KASARIDIH - DURG ( CHHATTISGARH )
LEGAL ADVISOR - DEEPAK KHOBRAGADE (ADVOCATE)